Signal App क्या है, लोग WhatsApp की जगह इसे क्यों इस्तेमाल कर रहे हैं?

हाल ही में WhatsApp की नई Policy आई है, जिसके बाद Signal App की चर्चा जोर शोर से फैलने लगी। दरअसल बात यह है, कि Tesla के मालिक यानी Elon Musk ने WhatsApp की नई Privacy Policy के बारे में जानने के बाद अपने Twitter account पर Signal App यूज करने की सलाह दी थी।

जिसके बाद Signal App को लोगों ने सर्च करना शुरू कर दिया और इतना ही नहीं Signal App का download इतना ज्यादा बढ़ गया, कि इस app का verification code users को बहुत देरी से प्राप्त हुआ। हालांकि बाद में server में आई समस्या को ठीक कर लिया गया है।

मेरे ख्याल से अब आप थोड़ा-थोड़ा समझ ही गए होंगे, कि Signal App क्या है और ये किस वजह से चर्चा में आ गई है। बता दूं कि Signal App भी WhatsApp की ही तरह end to end encrypted features के साथ आया है पर इसके साथ ही इसमें कई ऐसे बेहतरीन features दिए गए हैं, जो आपको WhatsApp में नहीं मिल पाते

कुछ ऐसे features भी Signal app में है जिसे हाल ही में WhatsApp में भी add किया गया है। यदि आपको Signal App से संबंधित और भी ज्यादा जानकारी जाननी है, तो इस लेख को शुरू से अंत तक जरूर पढ़ें।

क्यों है चर्चा में Signal App ?

दरअसल बात यह है, कि कुछ समय पहले WhatsApp की नई पॉलिसी घोषणा की गई थी। जिसके बाद 7 जनवरी 2020 को Tesla के मालिक Elon Musk ने अपने Twitter account पर Signal app इस्तेमाल करने की सलाह दी।

जिसके बाद लोगों ने धीरे-धीरे Signal App का इस्तेमाल करना शुरू किया और देखते ही देखते user इतने ज्यादा बढ़ गए, कि अचानक Signal App का server डाउन हो गया।

इसके बाद खुद Signal ने Twitter पर tweet करते हुए यह कहा कि ज्यादा users होने की वजह से verification code में समस्या आ रही है। बता दूं कि users को WhatsApp की नई privacy policy बिल्कुल भी पसंद नहीं आ रही है।

ऐसे में users दूसरे App की तलाश कर रहे हैं, ऐसे में उन्हें WhatsApp के विकल्प के रूप में Signal App काफी पसंद आ रहा है।

Signal App in Hindi | Signal app क्या है ?

Instant messaging applications यानी Signal App जिसे खासकर privacy policy के लिए जाना जाता है। जानकारी के लिए बता दूं कि Signal app को Signal Foundation के जरिए लांच किया गया है।

जिसके co-founder WhatsApp के employee Brian Acton है। इस messaging applications की शुरुआत Moxie Marlinspike ने की थी।

Signal app का इस्तेमाल बिल्कुल WhatsApp की ही तरह किया जाता है। यानी कि आप इसके जरिए लोगों के साथ चैटिंग और वीडियो कॉलिंग कर सकते हैं।

लेकिन WhatsApp के मुकाबले Signal App काफी बेहतर है, क्योंकि उसकी कुछ विशेषताएं और features काफी खास है।

Signal App की Tagline क्या है ?

Signal App एक messaging app है, जिस पर साल 2014 में ज्यादा ध्यान केंद्रित किया गया है। यह एक ऐसा मैसेंजर app है, जो आपकी privacy policy का ध्यान बहुत ही अच्छी तरीके से रखता है।

Signal App की टैगलाइन है, “Say Hello to Privacy” और यह सेवा WhatsApp की ही तरह end-to-end encrypted है। दरअसल बात यह है, कि WhatsApp अपने end to end encrypted फैसिलिटी के लिए Signal प्रोटोकॉल का इस्तेमाल करता है।

Signal App Features in Hindi

Signal App में कई बेहतरीन features है। यदि आपको Signal App के features के बारे में पूरी जानकारी नहीं है, तो आप यहाँ इससे संबंधित सभी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

  • Signal App में भी आप बिल्कुल WhatsApp की ही तरह ग्रुप बना सकते हैं।
  • Signal App में बनाए गए एक ग्रुप में लगभग 1000 लोगों को आसानी से जोड़ सकते हैं और उनसे बातचीत कर सकते हैं, वह भी बिना किसी समस्या के।
  • Signal App में भी आप WhatsApp की तरह वीडियो कॉलिंग आसानी से कर सकते हैं और साथ ही ऑडियो वॉइस मैसेजेस भी सेंड कर सकते हैं।
  • Signal App में आपको किसी भी महत्वपूर्ण डाटा सबमिट करने की जरूरत नहीं होती यहां केवल आप अपने मोबाइल नंबर से लॉगिन कर सकते हैं।
  • Signal App में भी आप ग्रुप कॉलिंग कर सकते हैं। यानी कि ग्रुप ऑडियो कॉलिंग की सुविधा भी इस एप्लीकेशन में दी गई है।

Signal App use करने के फायदे

Signal App इस्तेमाल करने के लिए बहुत से ऐसे महत्वपूर्ण फायदे हैं। जिसके बारे में शायद आपको जानकारी ना हो, लेकिन आज हम आपको Signal App के सभी फायदे से अवगत कराने वाले हैं,

तो आइए जानते हैं कि Signal App के क्या फायदे हैं।

  • Signal foundation ने Signal App को बनाने से पहले इसकी privacy policy पर काफी ध्यान दिया है। आपको बता दूं की यह Non profit organization है, जो आज के समय में डोनेशन के ज़रिए चलती है। इसका मुख्य कार्य लोगों की प्राइवेसी को मेंटेन करना है। यानी कि यह लोगों की महत्वपूर्ण डाटा इत्यादि को वायरल होने से बचाती है।
  • Signal App इस बात का भरोसा देता है, कि इसका इस्तेमाल करने से आपके द्वारा आदान-प्रदान व बातचीत की गई महत्वपूर्ण information व डाटा स्टोर नहीं करता है। यहां तक कि आप का आईपी ऐड्रेस को भी कोई पहचान नहीं पाएगा और ना ही फोन नंबर और ना ही यह कि आप किस से बात कर रहे हैं और क्या कर रहे हैं।
  • यह आपको पासवर्ड प्रोटेक्टेड की सुविधा भी देता है, यानी कि अगर आप किसी को फोन अनलॉक कर के भी देते हैं, तब भी वह आपके मैसेजेस को चेक नहीं कर सकता है।

Signal App पर Account कैसे बनाएं ?

  • Signal App पर account बनाने के लिए आपको सबसे पहले Signal app को Google Play Store से download करना होगा।
  • Signal App को download करने के बाद इसे आप ओपन करें। आपको टर्म्स एंड कंडीशन पॉलिसी दिखाई देगा, जहां आपको continue बटन पर click करना है।
  • Continue पर click करने के बाद आप के सामने एक नया पेज खुल जाएगा। जहां आपको अपना मोबाइल नंबर एंटर करना है। मोबाइल नंबर एंटर करते ही आपके पास otp verify करने के लिए आयेगा जो की ऑटोमेटेकली verify हो जाएगा।
  • Verify होने के बाद आपको वहां अपना प्रोफाइल नेम और इमेज का चयन करना होगा। चयन करने के बाद आप next बटन पर click करें।
  • Next बटन पर click करते ही आपको वहां पिन create करना होगा। जहां आपको 4 डिजिट का एक पिन इंटर करके कंफर्म करना होगा। यह आपके Signal App को संपूर्ण तरीके से सिक्योर बनाने में मदद करता है। यानी कि इस पासवर्ड के बगैर आपका Signal App नहीं खुल सकेगा।

जानिए Signal app आपसे क्या क्या डाटा लेता है ?

Signal App आपसे कुछ खास डाटा एकत्रित नहीं करता है। यह केवल एकमात्र जानकारी जो आपसे लेता है, वह है आपका फोन नंबर।

Signal App की प्राइवेसी के अनुसार यह किसी भी संवेदनशील जानकारियों को इकट्ठा नहीं करने के लिए डिजाइन किया गया है।

इस app पर सभी मैसेजेस और कॉल को एंड टू एंड एनक्रिप्टेड की सुविधा दी गई है। इसका मतलब यह है, कि कोई भी third party यहां तक कि Signal भी उन तक नहीं पहुंच सकता है।

Signal App का इस्तेमाल करने पर, ये आपके किसी भी मैसेज या कॉल के बारे में किसी भी तरह की जानकारी को अपने server पर इकट्ठा नहीं करता है।

हालांकि यह server अस्थाई रूप से ऑफलाइन होने वाले वितरण के लिए अपने server पर आखिरी इंक्रिप्टेड मैसेज को रोकता है। जैसे कि जहां फोन की बैटरी खत्म हो गई हो या इंटरनेट कनेक्टिविटी खत्म हो गई हो तो users के डिवाइस के मैसेज हिस्ट्री में सब सेव हो जाती है।

Signal App स्पष्ट करता है कि, यह एक खास सेवा का इस्तेमाल करता है, जिसके अनुसार यह मैसेज या कॉल को डिक्रिप्ट या एक्सेस नहीं कर सकता। इसके अलावा इससे जुड़ने वाले users के संपर्कों की जानकारी को भी इसने काफी सुरक्षित रखा है।

Signal के मुताबिक यह जानकारियां क्रिप्टोग्राफिक रूप से बाहर निकल जाती है। और server से प्रेषित की जा सकती है। ताकि यह तय किया जा सके कि आप कौन से registration में शामिल होते हैं।

Signal का कहना है, कि इन सेवाओं को प्रदान करने के लिए हम third party के साथ कुछ जानकारियां शेयर करते है जैसे कि यदि कोई users हमारी सेवाओं के संबंध में स्पॉटिफाई, यूट्यूब, जीपीआरई जैसे third party सेवाओं पर निर्भर करता है, तो उनकी कुछ शर्तें और privacy policy उन सेवाओं के इस्तेमाल को कंट्रोल करती है।

Signal इस बात को भी स्पष्ट करता है, कि व्यक्तिगत डाटा या महत्वपूर्ण जानकारी किसी भी तरह से बेचे या वायरल नहीं की जा सकती है।

क्या आपको WhatsApp डिलीट कर देना चाहिए ?

जैसे कि हाल ही में WhatsApp की privacy policy में बदलाव किया गया है और इसी डर से कई लोग WhatsApp छोड़कर Signal app की ओर रुख कर रहे हैं।

यदि आपको इस बात का खतरा है, कि आपकी Personal data थर्ड पर्सन के पास वायरल हो सकती है, तो आप बेझिझक होकर Signal app को Install कर सकते हैं और WhatsApp को डिलीट कर सकते है।

लेकिन यदि आपको Personal data इत्यादि की कोई टेंशन नहीं है और वायरल होने का खतरा नहीं है तो ऐसा बिल्कुल जरूरी नहीं है, कि आप WhatsApp को डिलीट करें।

क्या Signal App WhatsApp को Replace सकता है ?

अगर सही मायनों में देखा जाए तो, फ़्यूचर में Signal WhatsApp को ज़रुर replace कर सकता है,
क्योंकि WhatsApp ने जिस तरह से अपने प्राइवेसी पॉलिसी में बदलाव किए है, उस हिसाब से यूज़र इसे पसंद नही कर रहे है।

दूसरी तरफ देखे तो वही Signal app की team अपने यूज़र को ये भरोसा दिला रही है, की हम आपके
डाटा को किसी भी third party के साथ शेयर नही करेंगे।

और अगर WhatsApp अपने वादों पर अड़े रहता है, तो एक ना एक दिन सभी WhatsApp यूज़र Signal
यूज़र में बदल जाएंगे।

Conclusion | Signal App Kya Hai?

मुझे उम्मीद है, कि आपको आज का यह लेख “Signal App क्या है?” बेहद पसंद आया होगा और आपको Signal app से संबंधित सारे महत्वपूर्ण information का ज्ञान भी हुआ होगा।

यदि आपको फिर भी Signal app से संबंधित कोई सवाल पूछना है, तो आप कमेंट करके पूछ सकते हैं। हम आपके सवालों के जवाब जल्द से जल्द देने की पूरी कोशिश करेंगे और अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो, तो इसे सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें। ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को इसके बारे में जानकारी प्राप्त हो सके।

और भी पढ़ें :-


Share करें :
Asif Ansari

Hello! दोस्तो, मेरा नाम आसिफ अंसारी है, मैंने कंप्यूटर साइन्स के अंदर अपनी स्नातक की डिग्री पूरी की है। मुझे इंटरनेट, टेक्नॉलजी, कंप्यूटर के बारे में जानने की काफी ज्यादा दिलचस्पी रहती है यहाँ मैं इंटरनेट, ऑनलाइन पैसे कैसे कमायें, टेक्नोलॉजी, एजुकेशन और गेमिंग के बारे में अपनी Knowledge शेयर करता हूँ।

Leave a Comment

error: Content is protected !!!
77 Shares
Copy link